Friday, February 23, 2024
HomeBlogTop 9 Indian Freedom Fighters

Top 9 Indian Freedom Fighters

Freedom Fighters का हमारे देश को स्वतंत्रता दिलाने में बहुत बड़ा हाथ रहा है। आज हम आजाद भारत के नागरिक हैं हम पर किसी प्रकार का कोई बंधन नहीं है हम अपनी मर्जी से कोई भी काम कर सकते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं हमें यह आजादी कैसे मिली और किसने दिलवाई ? आज मैं आपको भारत के उन स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बताऊंगा जिन्होंने अपने प्राणों का बलिदान देकर हमें आजादी दिलवाई अगर यह स्वतंत्रता सेनानी भारत भूमि पर पैदा नहीं हुए होते तो हम आज भी अंग्रेजों की गुलामी कर रहे होते तो चलिए जानते हैं भारत के कुछ प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में।

महात्मा गांधी 

महात्मा गांधी 
Credit-Freepik.com

महात्मा गांधी, जिन्हें राष्ट्रपिता भी कहा जाता है को भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में जाना जाता है हमें आजादी दिलवाने में महात्मा गांधी का बहुत बड़ा योगदान था अगर महात्मा गांधी ना होते तो हमें आजादी नहीं मिल सकती थी

  • आजादी के संघर्ष के लिए महात्मा गांधी कई बार जेल भी गए किंतु उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आजादी के लिए लड़ते रहे
  • महात्मा गांधी दुबले और पतले से थे किंतु उनकी हिम्मत का कोई मुकाबला नहीं कर सकता था
  • अंग्रेजो के खिलाफ लड़ते हुए अंत में 15 अगस्त 1947 को उन्होंने भारत को आजाद करवा ही लिया
  • किंतु आजादी के कुछ समय बाद ही नाथूराम गोडसे ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी
  • उसे लगता था कि महात्मा गांधी मुसलमानों के हितैषी हैं इसलिए वह भारत का बंटवारा नहीं होने दे रहे हैं
  • किंतु यह सच नहीं था और अपनी गलतफहमी के कारण गोडसे ने देश के अमर सपूत को मौत के मुंह में धकेल दिया।

ये एक ऐसे Freedom Fighters है जिनका हिन्दुस्तान सदा ही आभारी रहेगा

सरदार पटेल 

सरदार पटेल ने हमें ना सिर्फ आजादी दिलवाई बल्कि आजाद भारत को एकजुट करके रखने में उनका बहुत बड़ा योगदान था वह गुजरात के रहने वाले थे और भारत की 565 रियासतों का विलय भारत में करवाने का श्रेय सरदार पटेल को ही जाता है

यह भी पढ़ें-10 Big Problems in India

  • जब हम आजाद हुए उस समय भारत में 565 देशी रियासतें थी
  • भारत दो भागों में बट गया भारत और पाकिस्तान
  • इन रियासतों के शासकों को यह स्वतंत्रता थी कि वह अपनी इच्छा से भारत या पाकिस्तान में शामिल हो सकते थे
  • सरदार पटेल ने इन रियासतों के शासकों को समझा-बुझाकर वार्षिक पेंशन का लालच देकर इन रियासतों को भारत में मिला दिया और अखंड भारत का निर्माण किया।

रानी लक्ष्मीबाई 

रानी लक्ष्मीबाई 
Credit-Freepik.com

रानी लक्ष्मीबाई को हम सभी जानते हैं वह झांसी की रानी थी और बड़ी वीर योद्धा व निडर थी उन्होंने अंग्रेजी साम्राज्य की नींव हिलाकर रख दी थी

  • उन्होंने अपने पति की मृत्यु के बाद पूरे झांसी को अंग्रेजों से बचाए रखा था
  • जब उनके पति यानि बाल गंगाधर तिलक की मृत्यु हो गई तो उस समय अंग्रेजों ने उनके गोद लिए पुत्र को झांसी का सम्राट मानने से इंकार कर दिया और झांसी को अपने सम्राज्य में मिला लिया
  • इस बात से रानी लक्ष्मीबाई बहुत क्रोधित हो उठी
  • उन्होंने अंग्रेजों का सफाया करने का प्रण ले लिया 1857 के विद्रोह में  लक्ष्मीबाई का बहुत बड़ा योगदान था
  • वीर शासिका लक्ष्मीबाई अंग्रेजो के खिलाफ लड़ते-लड़ते अंत में वीरगति को प्राप्त हो गई।

सुभाषचंद्र बोस

सुभाषचंद्र बोस
Credit-Freepik.com

सुभाषचंद्र बोस को नेताजी के नाम से भी जाना जाता है वह पढ़ाई-लिखाई में जितने निपुण थे उससे भी ज्यादा वह वीर योद्धा थे सुभाष जी शुरू से ही अंग्रेजों के विरुद्ध थे एक बार सुभाष जी ने गुस्से में आकर अंग्रेजी अफसर को पीट डाला था यह उनके जीवन में अंग्रेजों के विरुद्ध पहली लड़ाई थी

  •  बोस जी के प्रयासों से ही आई सी एस जैसे परीक्षा का पहली बार भारत में आयोजन किया गया
  • उन्होंने भारत को आजाद करवाने के लिए आजाद हिंद फौज का गठन किया
  • सेना में इतना जोश भर दिया कि उन्होंने अंग्रेजी सेना को तिनके की तरह अपने रास्ते से हटा दिया
  • उन्होंने अपनी सेना को जय हिंद का नारा दिया इसका मतलब था हिंदुस्तान की सदा विजय हो
  • अपने अथक प्रयासों व दृढ़ संकल्प से सुभाष जी ने भारत को आजादी दिलवाने में बहुत बड़ा योगदान दिया।

भगत सिंह 

भगत सिंह 
Credit-Freepik.com

सरदार भगत सिंह को अमर शहीद के नाम से भी जाना जाता है इनका जन्म पंजाब में हुआ था भगत सिंह के परिवार में पहले से ही बहुत देशभक्त थे इसलिए भगत सिंह को देशभक्ति की भावना विरासत में मिली थी भगत सिंह का जन्म ऐसे माहौल में हुआ था जब देश में चारों ओर अंग्रेजों के विरुद्ध आवाजें उठ रही थी उस वातावरण का भी प्रभाव भगत सिंह पर पड़ा भगत सिंह जलियांवाला बाग हत्याकांड से बहुत दुखी और क्रोधित थे अंग्रेजो के खिलाफ उनके मन में नफरत इसी घटना से पैदा हुई

  • उन्होंने भारत को आजाद करवाने के लिए नौजवान भारत सभा की स्थापना की
  • भगत सिंह को अंग्रेज शासन विरोधी कार्यो के कारण जेल में डाल दिया गया
  • किंतु उन्होंने हिम्मत नहीं हारी जब अंग्रेजों ने लाठीचार्ज करके लाला लाजपत राय की हत्या कर दी
  • भगत सिंह ने ‘खून का बदला खून से लेने’ का नारा लगाया
  • अंग्रेजी संसद पर बम से हमला करने के आरोप में उन्हें बंदी बना लिया गया
  • मार्च 1931 को भगत सिंह को फांसी पर लटका दिया गया
  • फांसी पर लटकते समय भगत सिंह ने ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाया और देश के लिए अपनी कुर्बानी दे दी।
  • भगत सिंह जी ऐसे Freedom Fighters है जो आज भी करोड़ों हिन्दुस्तानियों के दिलों में जिन्दा है

Read more – Netflix Its advantages and disadvantages

चंद्रशेखर आजाद 

चंद्रशेखर आजाद की गिनती भारत के युवा क्रांतिकारियों में की जाती है यह मध्य प्रदेश के रहने वाले थे चंद्रशेखर आजाद का नाम सुनते ही अंग्रेजों के रोंगटे खड़े हो जाते थे

  • भारत मां के लिए उन्होंने अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया
  • इनमें देशभक्ति की भावना बचपन से ही कूट-कूट कर भरी हुई थी
  • देश की आजादी के लिए चंद्रशेखर इतने उत्साहित थे कि उन्होंने अपना नाम ही चंद्रशेखर आजाद रख लिया
  • जलियांवाला बाग में जो हत्याकांड हुआ उससे चंद्रशेखर आजाद के मन में अंग्रेजों के लिए नफरत और अधिक बढ़ गई
  • उन्होंने अंग्रेजी शासन का अंत करने का प्रण ले लिया
  • आजादी की लड़ाई में भगत सिंह ने चंद्रशेखर आजाद का बहुत सहयोग दिया
  • चंद्रशेखर आजाद ने भगत सिंह के साथ मिलकर संसद पर बम से हमला किया और एक अंग्रेज अधिकारी की मृत्यु भी कर दी
  • अपने अंतिम समय में जब चंद्रशेखर चारों तरफ से अंग्रेजों से घिरे हुए थे
  • उन्होंने अंग्रेजों की गुलामी या उनके हाथों मरने से ज्यादा खुद को गोली मारकर आजाद मरना स्वीकार किया।

लोकमान्य तिलक

लोकमान्य तिलक की गणना उन नेताओं में की जाती है जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए अपना सब कुछ त्याग दिया तिलक जी एक सच्चे देशभक्त और स्वतंत्रता के पुजारी थे

  • उन्होंने आजादी की लड़ाई को उग्र बनाने में बहुत सहयोग दिया उनका मानना था
  • कि स्वराज्य चाहे जितना भी बुरा क्यों ना हो लेकिन वह विदेशी राज्य से कहीं अच्छा है
  • तिलक जी गरम दल के समर्थक थे इसलिए उन्होंने शांति की बजाय हिंसात्मक ढंग से आजादी पाने के लिए संघर्ष किया
  • उन्होंने देशवासियों में देश प्रेम और एक नया उत्साह जगाकर अंग्रेजों को भारत से निकालने में बहुत योगदान दिया
  • गांधी जी और नेहरु जी ने स्वराज्य का भवन तिलक द्वारा रखी गई नींव पर ही खड़ा किया
  • आज के भारत के निर्माण का श्रेय लोकमान्य तिलक को ही जाता है
  • उन्होंने जनता के आंदोलन को राष्ट्रीय आंदोलन बना दिया
  • अगर तिलक जी लोगों में आशा की नई किरण नहीं जगाते
  • तो हम एकजुट होकर अंग्रेजो के खिलाफ नहीं लड़ सकते थे।

लाला लाजपत राय 

लाला लाजपत राय महान देशभक्तों में से एक थे वह पंजाब के रहने वाले थे लाला लाजपत राय भारत के धर्म को विश्व का सर्वश्रेष्ठ धर्म मानते थे उनका यह मानना था कि हिंदू और मुसलमान को एकजुट होकर रहना चाहिए किंतु इसके लिए वह हिंदुओं के हितों को कुर्बान नहीं करना चाहते थे

  • लालाजी ने न सिर्फ आजादी में ही सहयोग दिया बल्कि कई समाज सुधार कार्य भी किए
  • उन्होंने अनाथ बच्चों के लिए अनाथालय खुलवाएं और रोगियों के लिए अस्पतालों की व्यवस्था की
  • वह अंग्रेजों से अपार नफरत करते थे उनका मानना था कि आजादी के लिए संघर्ष करना जरूरी है
  • बिना अंग्रेजों से लड़े आजादी मिलना असंभव है
  • उनके भाषणों ने लोगों के मन में राष्ट्रीयता, देश-प्रेम और त्याग की भावनाएं पैदा की
  • उन्होंने सोए हुए लोगों को जगाया
  • अंग्रेजो के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने के लिए प्रोत्साहित किया
  • गांधी जी के साथ मिलकर उन्होंने राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन को बहुत प्रबल बना दिया।

महाराणा प्रताप 

महाराणा प्रताप 
Credit-Freepik.com

महाराणा प्रताप को उनकी वीरता और दृढ़ संकल्प के लिए जाना जाता है वह जन्म से ही बड़े वीर और साहसी थे उन्होंने अपने जीवन में कई सफलताएं प्राप्त की थी वह किसी के भी अधीन होकर शासन नहीं करना चाहते थे

  • वह अंग्रेजों को अपनी स्वतंत्रता पर अनावश्यक अंकुश मानते थे
  • इसलिए उन्होंने अंग्रेजों को भारत से भगाने में बहुत मदद की
  • उनके युद्ध कौशल से अंग्रेज भी हैरान थे
  • हजारों सैनिकों को अकेले मार गिराने की ताकत उनमें थी
  • महाराणा प्रताप ने अपने राज्य में किसी भी अंग्रेज अधिकारी को घुसने तक नहीं दिया
  • जब भी अंग्रेज उनके राज्य पर आक्रमण करते
  • तो वह बड़ी वीरता से युद्ध लड़ते और अंत में विजय उनकी ही होती
  • महाराणा प्रताप ने आजादी के लिए जितना सहयोग दिया
  • उतना सहयोग उन्होंने पहले कभी नहीं दिया था।

ये एक ऐसे Freedom Fighter थे जिनका हिंदुस्तान सदा ही ऋणी रहेगा।

Read more- Top Affiliate Earning Websites

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular